आईसीएसई क्या होता है? ICSE Full Form In Hindi

 ICSE Full-Form – Indian Certificate Secondary Education (भारतीय प्रमाणपत्र माध्यमिक शिक्षण)

दोस्तों आज के समय में शिक्षा का कितना महत्व है ये तो आप सभी जानते ही है। अंकुर एक देश के विकास के लिए शिक्षा का होना कितना जरूरी है। इसलिए सभी देश अपने- अपने यहाँ शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने में लगे हुए है। हमारा भारत भी शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने में जी-जान से काम कर रहा है। तो आज हम शिक्षा से जुड़े विषय पर ही चर्चा करेंगे। ICSE Full Form In Hindi 
जैसे की आप लोग जानते ही है की हमारे देश में दो बोर्ड है एक CBSE और दूसरा ICSE बोर्ड है। आज हम ICSE बोर्ड के बारे में जानने की कोशिश करेंगे। हम जानेगे की ICSE क्या होता है, ICSE  की फुलफॉर्म क्या होती है (ICSE Full Form In Hindi), CBSE और ICSE बोर्ड में क्या अंतर होता है,  और ICSE बोर्ड के फायदे क्या है, इन दोनों में से कौन  बेहतर है। इन सभी सवालो से जुडी जानकारी पाने के लिए इस पोस्ट पर बने रहे।  तो चलिए जानते है इन सबके के बारे में।

ICSE का फुल फॉर्म क्या होता है?

ICSE Full-Form – Indian Certificate Of Secondary Education 

ICSE Full-Form in Hindi – माध्यमिक शिक्षा का भारतीय प्रमाण पत्र

ICSE Full-Form in Marathi – माध्यमिक शिक्षणाचे भारतीय प्रमाणपत्र

ICSE Full-Form in Tamil – இடைநிலைக் கல்விக்கான இந்திய சான்றிதழ்

CBSE and ICSE Full-Form – Central Board Of Secondary Education (CBSE) & Indian

 Certificate Of Secondary Education (ICSE)

ISC Full-Form – Indian School Certificate

ICSE बोर्ड क्या है?

दोस्तों ICSE का पूरा नाम है Indian Certificate Of Secondary Education  इसे Council For The Indian School Certificate Examination (CISCE) भी कहते है। यह एक Privately Held नेशनल लेवल स्कूल एजुकेशन बोर्ड है। इसके चेयरमैन Dr. G Immaneul है। यह एक Non -Government School Of Board Education है। यानि यह CBSE की तरह सरकार की तरफ से तो नहीं है ,लेकिन इसे सरकार द्वारा पर्मिशन तो मिली हुई है। ICSE की स्थापना आज से 62 साल पहले 3 नवंबर 1958 में हुई थी।इससे बोर्ड में सिर्फ और सिर्फ इंग्लिश पर ही main focus किया जाता है। यह पूरी तरह english language में ही शिक्षा प्रदान करता है।

ICSE बोर्ड का फायदा?

ICSE का Syllabus बहुत मुश्किल होता है इसलिए ज्यादातर बच्चे CBSE को ज्यादा चुनते है इसलिते भारत में इसकी Value CBSE बोर्ड के मुकाबले कम है। लेकिन ICSE का महत्व भारत के बाहर अन्य देशो में ज्यादा है जैसे की अमेरिका, कनाडा और uk आदि। अगर आप देश के बहार जाकर अपना भविस्ये बनाना चाहते है तोह आपके लिए ICSE बोर्ड ज्यादा बेहतर है।

CBSE और ICSE बोर्ड में क्या अंतर होता है?

जैसे की अभी हमने जाना की ICSE बोर्ड क्या होता है , उसे तरह पहले जान लेते है की CBSE बोर्ड क्या होता है?ताकि आपको जानने में आसानी हो की दोनों मई क्या अंतर है। तो चलिए जानते है।

 CBSE बोर्ड क्या होता है?

दोस्तों CBSE का पूरा नाम होता है Central Board Of Secondary Education . यह एक Government Board Of Education है जिसका नेतृत्व Ministry of Education के द्वारा किया जाता है। इसके चेयरमैन IAS Manoj Ahuja है। CBSE का गठन आज से 58 साल पहले 3 नवंबर 1962 में हुआ था और इसका Headquarter नयी दिल्ली में है।  
 

अब हम दोनों में क्या अंतर है जानेगे?

CBSE और ICSE में अंतर हम कुछ Basic point के आधार पर समझेंगे जिससे हमें समझने में आसानी होगी। तोह आइये जानते है।

पहला Basic Point:

Flexibility:

CBSE को Flexible Board कहा जाता है क्युकी CBSE ना सिर्फ English Medium में बल्कि Hindi Medium और Marathi Medium पढ़ाने की Facility Provide करता है। वही दूसरी तरफ ICSE सिर्फ और सिर्फ English Language पर धियान देता है और सिर्फ English Language में शिक्षा प्रदान करता है।

दूसरा Basic Point:

Exam Papers:

CBSE बोर्ड में सिर्फ 6 पेपर होते है जिसमे से 5 मुख्य और एक Optional होता है लेकिन ICSE में 12 पेपर होते है। ICSE पाठ्यक्रम बहुत ही मुश्किल होता है इसलिए CBSE की तरह यहाँ एक विषय के एक ही पेपर नहीं होते बल्कि English के दो Science के तीन कुछ इस तरह पेपर कराये जाते है।

तीसरा Basic Point:

Knowledge:

CBSE में Concept को सैद्धांतिक ज्ञान यानि Theoreticle Knowledge के Base पर समझाया जाता है और यद् करवाया जाता है। लेकिन ICSE सैद्धांतिक ज्ञान यानि Theoreticle Knowledge के साथ-साथ Practicle Knoeledge भी प्रोवाइड कराई जाती है।

चौथा Basic Point:

Scheme:

 सरकार की नजरो में CBSE बोर्ड का बहुत महत्व है क्युकी इसके पीछे Government का ही सपोर्ट है इसलिए CBSE में स्कॉलर्शिप और अन्य Scheme ज्यादा होती है वही अगर ICSE की बात करे तोह इसके पास भी सरकार का समर्थन होता है और यहाँ स्कालरशिप जैसी Scheme तो मिलती  लेकिन CBSE के मुकाबले काम होती है।
तोह आप इन सही अंतरो से यह भी जान गए होंगे की इनमे से कौन सा बोर्ड ज्यादा बेहतर है।

आज आपने क्या सीखा

आसा करता हु आप सभी को हमारी जानकरी पसंद आयी होगी और इस लेख के माधियम से आपको पता चला होगा की ICSE क्या होता है, ICSE  की फुलफॉर्म क्या होती है (ICSE Full Form In Hindi), CBSE और ICSE बोर्ड में क्या अंतर होता है,  और ICSE बोर्ड के फायदे क्या है, इन दोनों में से कौन  बेहतर है. अगर आपको हमारी जानकरी अच्छी लगी हो तो इस लेख को अपने दोस्तों तक  शेयर भी जरूर करे।

Other Posts;

Leave a Comment