NSC Full Form – NSC Full Form in Banking – Full Form Of NSC

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का स्वागत है आज के समय मे यदि आप किसी भी तरह का इन्वेस्टमेंट करने के बारे में सोच रहे है तब आपको आज हम इस पोस्ट के माध्यम से एक ऐसे बचत योजना के बारे में बता रहे है जिसमे आप अपना बचत राशि को इन्वेस्ट करके, भविष्य के लिए अपना भविष्य निधि सुरक्षित रख सकते है ताकि आपको किसी तरह की समस्याएं आता है तब आप उससे निपट सके, आज हम इस पोस्ट में आपको NSC के बारे में बतायेंगे, आखिर NSC full form क्या है, NSC क्या होता है, NSC के लिये योग्यता, NSC के लिए आवेदन करने के लिए दस्तावेज आदि के बारे में हम इस पोस्ट में बता रहे है, आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते है तब आप NSC के बारे में समझ जायेंगे। तो चलिए दोस्तो हम NSC के बारे में विस्तार से जानते है।

NSC Full Form Hindi?

NSC Full Form National Saving Certificate होता है, तथा इसे हम हिंदी में राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र कहते है। यह भारत सरकार की एक पहल है और राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र एक निश्चित आय निवेश योजना है जिसे आप भारत मे स्थित किसी भी डाकघर में आसानी से खोल सकते हैं, यह एक तरह का बचत बांड योजना है जो कि मुख्य रूप से छोटे से मध्यम आय वाले investors को Article 80C के तहत आयकर पर बचत करते हुए निवेश करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, ताकि भविष्य निधि के रूप में कुछ रुपये invest करने अपना भविष्य सुरक्षित रख सके, आज के समय मे अनेक लोग NSC में invest भविष्य को ध्यान में रखते है ताकि समय पर काम करने पर बचत की राशि का उपयोग हो सके। NSC Full Form

NSC Full Form in Banking - Full Form Of NSC

FAQs:

What Is NSC?

NSC अर्थात राष्ट्रीय बचत पत्र होता है, यह भारत सरकार की small savings schemes के अंदर आता है, यहाँ पर एक निवेशक 100, 500, 1000, 5000, 10000 के मूल्य वाले certificate के रूप में मुख्यतः होता है। NSC Full Form

इन्हें आप इस राशि मे recorded value का भुगतान करके खरीद सकते है, 5 साल बाद इन certificate को आप भुना सकते हैं अर्थात अपना पैसा निकाल सकते है इस समय डाकघर आपको आपकी deposit के साथ उस पर जितना Interest रहता है उसे मिलाकर आपको वापस कर देता है, आपके जमा किये हुए राशि मे कितना interest मिलेगा यह आपको जब आप NSC खरीदते है तब पता चलेगा।

NSC की विशेषताएं?

NSC योजना का लाभ वर्तमान समय मे करोड़ों लोग उठा रहे है, ऐसे में इसकी विशेषताएं निम्न है-

एनएससी टैक्स लाभ दिए गए हैं।

• आपको एक सुनिश्चित रिटर्न (8% वार्षिक ब्याज) मिलता है एवं आप नियमित वेतन को प्रोत्साहित कर सकते है।

• NSC में ब्याज दर अधिक है।

• उपयोग में आसान है क्योंकि यह योजना पूरे भारत में डाकघरों में उपलब्ध है।

• आपके निवेश पर आपको मिलने वाला ब्याज निश्चित रूप से चक्रवृद्धि व पुनर्निवेशित हो जाता है, पर रिटर्न में किसी तरह की वृद्धि नहीं होता है।

• पूर्ण परिपक्वता मूल्य प्राप्त होता है, घाटा होने का चांस ही नही है।

• आप अपने अनुसार थोड़ा या अधिक निवेश कर सकते है।

• NSC योजना में परिपक्वता की अवधि 5 वर्ष 10 वर्ष तक है।

• NSC को ऋण के लिए संपार्श्विक या सुरक्षा के रूप में भी आसानी से दिया जा सकता है।

• विशिष्ट शर्तों के तहत असामयिक NSC वपास निकालने की अनुमति है।

NSC पात्रता मानदंड?

वित्तीय विशेषज्ञों या निवेशकों के लिए NSC खरीदने के लिए अनिवार्य मानदंड निम्न है-

• यह प्रमाण पत्र कोई भी खरीद सकता है, इसके लिए कोई आयु सीमा नहीं है।
• व्यक्ति या निवेशक को भारत का निवासी होना अनिवार्य है।
• एनएससी 8वें अंक के तहत, एचयूएफ एवं ट्रस्ट Plan में निवेश करने के लिए योग्य नही होता है।
• विदेशी नागरिक NSC Plan में निवेश नहीं कर सकते हैं।

डाकघर में NSC योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज :

यदि आप NSC योजना का लाभ उठाना चाहते है तब आपके पास निम्न आवश्यक दस्तावेज होना चाहिए-

• मूल पहचान पत्र – पासपोर्ट, पैन कार्ड, एक मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, एक सरकारी आईडी कार्ड, एक वरिष्ठ निवासी आईडी कार्ड आदि में से कोई एक होना चाहिए।
• एड्रेस प्रूफ जिसमें वीजा या पासपोर्ट, टेलीफोन बिल, बिजली बिल, चेक के साथ बैंक स्टेटमेंट, पोस्ट ऑफिस द्वारा जारी आईडी कार्ड आदि में से कोई एक होना चाहिए।
• आपका एक पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ होना चाहिए।

NSC योजना की परिपक्वता अवधि क्या है?

वर्तमान समय मे एनएससी दो अवधि की अवधि के साथ आता है, ऐसे में एक 5 साल का व दूसरा 10 साल का होता है, इन डिक्लेरेशन में निवेश, जो 8वें इश्यू के माध्यम से आता है, फिर यह 5 साल के बाद यह मैच्योर हो जाता है, जबकि IX इश्यू के तहत खरीदा गया निवेश फिक्स 10 साल के बाद मैच्योर होता है इसका परिवक्वता ही आपका लेनदेन में सहायक होता है। NSC Full Form

NSC Certificate खो जाने पर क्या करें?

किसी तरह से प्रमाण पत्र के खो जाने, लूटने, क्षतिग्रस्त होने या फिर नष्ट हो जाने की स्थिति में, तब आप ऐसे प्रमाण पत्र के वैध स्वामी पूर्व निर्धारित प्रपत्र (NC29) के माध्यम से डुप्लिकेट प्रमाण पत्र के लिए आप डाकघर में आवेदन कर सकते हैं, जहां प्रमाणपत्र सूचीबद्ध है या किसी अन्य डाकघर जो आवेदन को उस डाकघर में भेजेगा जहां से प्रमाण पत्र दिया जाता है आप इस तरह से पुनः आवेदन करके अपना प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते है। NSC Full Form

NSC निवेश के कर लाभ –

यदि नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में 1.5 लाख रुपये तक के निवेश करते है तब subscriber को सेक्शन 80C के तहत टैक्स में छूट मिल सकता है, इसके साथ ही प्रमाणपत्रों पर अर्जित ब्याज भी प्रारंभिक निवेश में वापस जोड़ा जाता है एवं टैक्स ब्रेक के लिए भी योग्य होता है। उदाहरण के लिए, यदि आप 2,000 रुपये के प्रमाण पत्र खरीदते हैं, तब आपको पहले वर्ष में उस प्रारंभिक निवेश राशि पर कर छूट मिलेगा, लेकिन दूसरे वर्ष में, आप उस वर्ष एनएससी निवेश के साथ-साथ पहले वर्ष में अर्जित ब्याज पर कर कटौती का दावा आसानी से कर सकते हैं, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ब्याज को मूल निवेश में जोड़ा जाता है एवं सालाना चक्रवृद्धि होता हैं। इस तरह से आप NSC में लाभ प्राप्त कर सकते है। NSC Full Form

NSC Scheme of India| Full Details in Hindi – Youtube:

Credit/Source: Aapka Paisa Channel

Conclusion:

I think by reading this article you all have come to know about NSC Full Form. Dear friends, if you liked the article, then share it with your friends and relatives so that it will be inspiring for me. Also bookmark our website on your device Finally thank you for visiting our website and spending your valuable time.

Read More:
LLM Full Form – LLM Full Form in Law – Full Form Of LLM
PCC Full Form – PCC Full Form in Police – PCC Full Form in Hindi

1 thought on “NSC Full Form – NSC Full Form in Banking – Full Form Of NSC”

Leave a Comment